घोटालेबाज कंपनियों के खिलाफ FIR कराने के बाद मेयर ने कहा- न खाऊंगा न खाने दूंगा, जो खायेगा वो पछतायेगा

घोटालेबाज कंपनियों के खिलाफ FIR कराने के बाद मेयर ने कहा- न खाऊंगा न खाने दूंगा, जो खायेगा वो पछतायेगा

POLITICS REGIONAL

Agra (Uttar Pradesh, India)। डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन में बरती गई अनियमितताओं को लेकर आगरा नगर निगम ने डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन में लगी चार कंपनियों के खिलाफ थाना हरीपर्वत में मुकदमा दर्ज करा दिया है।

एसएसपी से बात की तब रिपोर्ट लिखी

जनवरी माह में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन को लेकर बुलाए गए विशेष अधिवेशन में महापौर नवीन जैन ने नगर निगम प्रशासन को दोषी कंपनियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे, इसके बाद नगर निगम प्रशासन द्वारा 30 मई को तहरीर दी गई थी। इसके बाद नगर आयुक्त ने 12 जून को आगरा एसएसपी से आवश्यक कार्यवाई के लिए कहा। 7 जुलाई को एसएसपी से पुनः कहने के बाद जब मुकदमा दर्ज नहीं हुआ तब नगर आयुक्त ने महापौर नवीन जैन से अनुरोध किया। महापौर नवीन जैन ने बीते दिन 10 जुलाई को एसएसपी आगरा से वार्ता की जिसके बाद 10 जुलाई की रात को ही डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन की अनियमितताओं में लिप्त पाई गई चार कंपनियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ।



पार्षदों को धन्यवाद

महापौर नवीन जैन ने कहा कि मैं नगर निगम के सभी पार्षदों का धन्यवाद करूंगा जिन्होंने डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन की अनियमितताओं से मुझे अवगत कराया था। मैंने तुरंत ही नगर निगम प्रशासन को विशेष सदन बुलाने को निर्देशित किया था, सदन में इस विषय पर खुलकर चर्चा करने के लिए सभी सदस्यों को अनुमति दी गई थी। अधिकारियों से भी उनका पक्ष जानने के तदोपरांत मैंने नगर आयुक्त अरुण प्रकाश को निर्देशित किया था कि वह डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन में बरती गई अनियमितताओं की जांच कराएं जिसके बाद अपर नगर आयुक्त विनोद कुमार गुप्ता को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया। अपर नगर आयुक्त ने लगातार दो माह तक जांच करने के पश्चात इसकी रिपोर्ट 6 जनवरी 2020 को हुए विशेष अधिवेशन में प्रस्तुत की थी।

इस रिपोर्ट को देखते हुए महापौर नवीन जैन ने विशेष सदन में निर्देश दिए थे कि

1. संबंधित दोषी व्यक्तियों के खिलाफ़ प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराने हेतु तहरीर दी जाए
2. संबंधित अधिकारियों के खिलाफ प्रतिकूल प्रविष्टि दी जाए
3. दोषी कंपनियों को काली सूची में डालने को कहा
4. जिन फर्मों के पास अधिक धनराशि पहुंच गई उनसे रिकवरी कर पूरी धनराशि वापस लाने के निर्देश दिए

मैं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का अनुयायी हूं..
महापौर नवीन जैन के उक्त निर्देशों में से तीन निर्देशों पर तुरंत अमल किया गया था जबकि चौथी कार्रवाई के रूप में पुलिस प्रशासन के सहयोग से दोषी कंपनियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई है। महापौर नवीन जैन ने प्रथम बार महापौर पद संभालने के दौरान ली गई शपथ को फिर से दोहराते हुए कहा कि ‘मैं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का अनुयायी हूं, भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति को अपनाते हुए ना खाऊंगा ना खाने दूंगा और जो खाएगा वह पछताएगा।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *