कक्षा 6 की छात्रा ने गुल्लक तोड़कर 25 परिवारों को दिया राशन, 2 साल से गियर वाली साइ​किल के लिये जोड़े थे पैसे

कक्षा 6 की छात्रा ने गुल्लक तोड़कर 25 परिवारों को दिया राशन, 2 साल से गियर वाली साइ​किल के लिये जोड़े थे पैसे

HEALTH NATIONAL REGIONAL

Mathura (Uttar Pradesh, India)। कोरोना महामारी में लाॅकडाउन के दौरान जब लोग अपनी बचत को लेकर घरों में कैद हैं वहीं एक बच्ची ने अपनी गुल्लक के पैसों से राहत सामग्री खरीदकर जरूरतमंद परिवारों में बाॅट दी। निर्धन परिवारों की मदद कीे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आव्हान से प्रभावित हुयी बेटी ने दो साल से जमा गुल्लक के पैसों से जरूरतमंदों को राशन सामग्री दी। कोरोना वारियर्स महिला पुलिस कर्मियों के लिये सेनेटाईजर वितरित किये।

दो साल से जमा कर रही थी पैसे
आनंद धाम काॅलोनी निवासी 12 वर्षीय किशोरी शर्मा कक्षा 6 में पढ़ती है। वह दो साल से गुल्लक में पैसे जमा कर रही थी। पिता विष्णु शर्मा ने बताया कि टीवी पर पीएम की अपील और समाचारों में निर्धन परिवारों की खराब स्थिति को देखकर बेटी ने इनकी मदद करने की इच्छा जाहिर की थी। शुक्रवार को किशोरी ने अपनी गुल्लक तोड़कर पैसे निकाल लिये ।

25 परिवारों के लिए खरीदा सामान
गुल्लक में 10,790 रूपये निकले जिनसे 25 परिवारों के लिये आटा, दाल, चावल, तेल, मसाले आदि प्रदान किये गये । इसके साथ ही किशोरी ने पिता से कुछ पैसे और लेकर महिला पुलिसकर्मियों के लिये 50 सेनेटाईजर, मास्क एवं डैटाॅल साबुन भी खरीदे ।

बच्ची का प्रयास उत्साह बढ़ाने वाला है
रविवार को किशोरी शर्मा ने महिला थाना प्रभारी निरीक्षक उपासना सिंह को सैनेटाईजर, साबुन आदि सौंपकर सभी महिला पुलिस कर्मियों को कोरोना योद्धा के रूप में कार्य करने के लिये धन्यवाद दिया। इस मौके पर प्रभारी निरीक्षक ने कहा कि ‘‘छोटी बच्ची का प्रयास उत्साह बढ़ाने वाला है। समाज के और लोगों को भी इससे प्रेरणा लेकर एक दूसरे की मदद करनी चाहिये ।’’

गियर वाली साइकिल लेने के लिए जोडे थे पैसे
इससे पूर्व शनिवार को किशोरी ने महोली ग्राम एवं गोपाल नगर के 25 जरूरमंद परिवारों को राशन सामग्री वितरित की। किशोरी ने बताया कि ‘‘इन पैसों से गियर वाली साइकिल लेने की सोच रही थी लेकिन इस समय इनका सही उपयोग करके बहुत खुशी मिली है ।’’

ये रहे मौजूद
इस अवसर पर हर्ष पाठक, जगदीश वर्मा, रामदास व्यास, अशोक ठाकुर, विक्की वर्मा, भजनी, उत्कल शर्मा आदि उपस्थित रहे ।