मथुरा डबल मर्डर को लेकर पुलिस के खिलाफ हुए प्रदर्शन की गाज कोतवाल, चौकी इंजार्च पर गिरी

मथुरा डबल मर्डर को लेकर पुलिस के खिलाफ हुए प्रदर्शन की गाज कोतवाल, चौकी इंजार्च पर गिरी

Crime NATIONAL REGIONAL

Mathura (Uttar Pradesh, India) मथुरा। डबल मर्डर में आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने से पुलिस पर दबाव बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को पुलिस के खिलाफ हुए प्रदर्शन की गाज कोतवाल के अलावा होलीगेट चौकी इंचार्ज, मुख्य आरक्षी और अन्य आरक्षियों पर गिरी है। इन सभी को तत्काल प्रभाव से पुलिस लाइन भेज दिया गया है। शुक्रवार को होलीगेट पर एकत्रित हुए परिजन और शुभचिंतकों ने पुलिस द्वारा रोके जाने के बाद भी कैंडल मार्च निकाला। सभी शांतिपूर्वक कैंडल मार्च निकालते हुए विश्राम घाट तक पहुंचे। कैंडल मार्च के नाम पर कहीं उत्तेजित लोग अशांति न कर दें इसके लिए पुलिस पहले से ही तैयार थी। जिसके चलते होलीगेट पर कई थानों के अलावा पुलिस लाइन से अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया था। शाम करीब छह बजे जैसे ही लोग होलीगेट पर एकत्रित हुए तो पुलिस ने उन्हें वहां से हटा दिया तथा कैंडल मार्च न निकालने को कहा।

पुलिस का विरोध करते हुए भींड मोमबत्ती जलाकर छत्ता बाजार से होलीगेट होकर विश्राम घाट तक पहुंच गई

पुलिस के विरोध के बाद भी छत्ता बाजार की तरफ बढ़ते हुए भीड़ मोमबत्ती जलाकर विश्राम घाट तक पहुंच गई। इस दौरान लोकदल के शहर अध्यक्ष गौरव चतुर्वेदी एड., कांतानाथ चतुर्वेदी ने चेतावनी दी कि यदि उनकी मांगें नहीं मानी गईं तो समाज के लोग पुनः एकत्रित होंगे और आंदोलन करेंगे।

मुख्य आरक्षी और दो आरक्षी भी कोतवाली से पुलिस लाइन भेजे

शुक्रवार को पुलिस की तैनाती के बाद भी पीडित पक्ष ने समर्थकां के साथ कैंडल मार्च निकला। इसे आलाधिकारियों ने गंभीरता से लेते हुए शनिवार को प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली अवधेश प्रताप सिंह, चौकी प्रभारी होलीगेट थाना कोतवाली के अलावा मुख्य आरक्षी नारायण सिंह, आरक्षी रविंद्र सिंह तथा आरक्षी शिवकेश को हटाकर पुलिस लाइन भेज दिया है।

आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार दबिश दे रही है लेकिन गिरफ्तारी नहीं हो पा रही है।

गिरफ्तारी पर एसएसपी, मथुरा ने 25,000 रुपये का पुरष्कार घोषणा की

22.06.2020 को गली सेठ भीकचन्द छत्ताबाजार निकट होलीगेट मथुरा मे  हुई हत्याकाण्ड की घटना के सम्बन्ध में थाना कोतवाली, मथुरा पर पंजीकृत मु0अ0सं0 265/2020 धारा 147/148/149/307/302/504/506 भादवि व 7 सीएलए एक्ट  में अभियुक्त 1 संजय चौरसिया पुत्र महादेव चौरसिया 2 आकाश उर्फ आकर्ष पुत्र संजय चौरसिया निवासीगण महौली की पोर थाना कोतवाली, मथुरा वाछिंत चल रहे है। उपरोक्त दोनो अभियुक्तो की गिरफ्तारी पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, मथुरा द्वारा 25,000-25,000 रुपये का पुरष्कार घोषित किया गया है ।

लोगों का गुस्सां कम करने के लिए उठाया गया है कदम

दूसरी ओर लोगों का कहना है कि दिनदहाडे हुए डबल मर्डर के आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकी है। इसे लेकर लोगों में आक्रोश बढता जा रहा है। दूसरी ओर आरोपियों के नहीं पकडे जाने पर शहर में तरह-तरह की चर्चाएं भी चल निकली हैं। शुक्रवार को पुलिस के रोकने के बाद भी कैंडल मार्च निकाले जाने को अधिकारियों ने गंभीरता से लिया है। इससे लोगों के बीच पनप रहे असंतोष के संकेत भी मिले हैं। लोगों के गुस्से को फौरीतौर पर शांत करने के लिए यह कदम उठाया गया है।

दोहरे हत्याकान्ड को लेकर मथुरा की आम जनता व युवा वर्ग में काफ़ी आक्रोष

शुक्रवार को शान्तिपूर्ण तरीके से होली गेट से लेकर विश्राम घाट तक केन्डिल मार्च निकाला गया। और प्रशासन से चौबीस घंटे के अन्दर आरोपियो को गिरफ्तारी की मांग करते हुये कांन्तानाथ चतुर्वेदी ने कहा कि जल्द गिरफ्तारी नही हुई तो मथुरा जिला बन्द कराया जायेगा और यह बन्द आरोपियो के न पकडे जाने तक जारी रहेगा।

शान्तिपूर्ण कैडिल मार्च में भूपेन्द्र, गप्पी चतुर्वेदी, रवि, अमित, सोनू बाबा, पिन्टू, चिंटू, पारी, बाबुलनाथ, लालकृष्ण व समाज में जिनके अंदर कहीं न कहीं इस घटना को लेकर आक्रोश है बड़ी संख्या में युवा और बुजुर्ग हाथों में मोमवत्ती जला कर घरों से निकले और विश्राम घाट पर जाकर एकत्र हो गये। वहां दो निर्दोष लोगों की हत्या के विरोध में चतुर्वेदी समाज ने यमुना महारानी से प्रार्थना की तथा मृतकों की आत्मा की शान्ति और परिवारी जनों के प्रति सम्वेदना व्यक्त की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *