सुर्खियां बना हुआ है मुस्लिम देश मोरक्को का भारत से मिलिट्री ट्रक खरीदना

सुर्खियां बना हुआ है मुस्लिम देश मोरक्को का भारत से मिलिट्री ट्रक खरीदना

BUSINESS

 

उत्तरी अफ्रीकी देश मोरक्को की रॉयल आर्म्ड फोर्सेस को छह पहियों वाले 92 मिलिट्री ट्रक मिलने वाले हैं। खास बात यह कि इन ट्रकों का निर्माण भारतीय कंपनी टाटा एडवांस्ड सिस्टम ने किया है। इंडियन डिफेंस रिसर्च विंग (IDRW) ने अपनी रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी है।

मुस्लिम देश मोरक्को का भारत से मिलिट्री ट्रक खरीदना सुर्खियां बना हुआ है। वही मोरक्को जिसकी पिछले दिनों फीफा वर्ल्डकप में जीत को पाकिस्तान ने ‘इस्लाम की जीत’ बताया था। पाकिस्तान और मोरक्को के ‘दोस्ताना’ संबंध भी हैं लेकिन अपनी सेना को मजबूती देने के लिए अफ्रीकी देश ने भारत पर भरोसा किया।

मोरक्को की सेना ने रविवार को एक बयान जारी करते हुए ट्विटर पर इसकी पुष्टि की कि ऑर्डर किए गए मिलिट्री ट्रकों की ‘डिलिवरी होने वाली है।’ IDRW ने कुछ फोटो पोस्ट कीं जिनमें छह पहियों वाले 92 LPTA 244 ट्रक भारत के पश्चिमी तट पर स्थित पोर्ट पिपावाव से मोरक्को को निर्यात किए जाने के लिए तैयार दिख रहे हैं। मिलिट्री अफ्रीका वेबसाइट ने ट्रकों की विशेषताएं बताते हुए कहा कि इन्हें हथियारबंद वाहनों में बदला जा सकता है और इनका कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है।

अमेरिकी कंपनी से साइन की डील

भारतीय ट्रक मोरक्को के हथियारों की खरीद में विविधता लाने के प्रयासों का हिस्सा है जिसका उद्देश्य अत्याधुनिक उपकरणों के साथ अपनी सेना को मजबूत और उन्नत बनाना है। दिसंबर 2022 में अमेरिकी कंपनी L3Harris Technologies ने अफ्रीकी देश की F-16s मारक क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ ‘स्मार्ट हथियार रिलीज सिस्टम’ देने के लिए मोरक्को के साथ 29 मिलियन डॉलर के सौदे पर मुहर लगाने की घोषणा की थी।

मोरक्को की 97 आबादी मुस्लिम

मोरक्को अमेरिका और इजरायल सहित दुनिया के कुछ सबसे मजबूत सेनाओं वाले देशों के साथ सैन्य सहयोग बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। कतर में आयोजित फीफा वर्ल्ड कप में जब जीत हासिल कर मोरक्को सेमीफाइनल में पहुंचा था तब पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने इसे ‘मुस्लिम टीम’ की जीत बताया था। इमरान के अलावा एक बड़ा वर्ग मोरक्को की जीत को ‘इस्लाम की जीत’ से जोड़कर बता रहा था। दरअसल मोरक्को की 97 फीसदी से अधिक आबादी मुस्लिम है।

Dr. Bhanu Pratap Singh