वॉल पेंटिंग पर बने बटेश्वर मंदिर के चित्र पर हिंदूवादी संगठन ने कालिख पोत दी

वॉल पेंटिंग पर बने बटेश्वर मंदिर के चित्र पर हिंदूवादी संगठन ने कालिख पोत दी

Crime

 

आगरा। जी-20 देशों के स्वागत के लिए आगरा शहर पूरी तरीके से तैयार हो रहा है। शहर को दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है वहीं जिन रास्तों से जी-20 समिट के दौरान आने वाले प्रतिनिधि गुजरने वाले हैं उन रास्तों को खूबसूरत बनाया जा रहा है। इस दौरान वॉल पेंटिंग की जा रही हैं। वहीं इन वॉल पेंटिंग में खासकर ब्रज की संस्कृति और धरोहर को उकेरा जा रहा है। इसके साथ ही ब्रज क्षेत्र का काशी कहे जाने वाले बटेश्वर मंदिर का चित्र ईदगाह रोड़ पर बनाए गया है। वहीं दीवारों पर आगरा के गुरुद्वारे और मंदिरों के चित्र बनाए गए हैं। हालांकि अब इन चित्रों का विरोध होने लगा है। हिंदूवादियों ने इन चित्रों पर कालिख पोत दी है।

हिंदूवादियों का आरोप है कि जिस तरह से दीवारों पर देवी-देवताओं और मंदिरों के चित्र बनाए जा रहे हैं। वहां तक ठीक है। लेकिन जब जी-20 समिट खत्म हो जाएगा तब इन चित्रों की देखभाल कौन करेगा ? खुलेआम लोग इनके ऊपर थूकने पेशाब करने और उनके पास खड़े होकर शराब पीएंगे। इससे धार्मिक भावनाएं आहत होंगी। बजरंग दल के नेता दिग्विजय तिवारी कहते हैं कि ईदगाह पर बटेश्वर मंदिर का चित्र बनाया गया है। जब मैं खुद वहां गया तब मैनें देखा कि पास में ही पेशाब घर है उस चित्र के पास में लोग पेशाब कर रहे थे। इसकारण हमने दीवारों पर कालिख पोत दी।

 

Dr. Bhanu Pratap Singh