उत्तराखंड के पूर्व CM हरीश रावत ने कहा, नया जोशीमठ बनाया जाना चाहिए

उत्तराखंड के पूर्व CM हरीश रावत ने कहा, नया जोशीमठ बनाया जाना चाहिए

POLITICS

 

जोशीमठ भू-धंसाव मामला इस वक्त पूरे देश में चर्चा में छाया हुआ है। उत्तराखंड सरकार के साथ ही केंद्र सरकार ने भी धार्मिक नगर जोशीमठ और उसकी जनता को बचाने के लिए कमर कस ली है। उत्तराखंड के पूर्व CM हरीश रावत ने जोशीमठ भू-धंसाव पर चिंता जाहिर करते हुए मांग की है कि किसी भी समय सारा ढांचा ढह सकता है। जोशीमठ को दूसरी जगह बसाया और नया जोशीमठ बनाया जाना चाहिए। जोशीमठ के कारणों को पता लगाया जाए और इसे राष्ट्रीय आपदा के रूप में लेकर इसको बनाया जाना चाहिए। प्रभावित परिवारों को बद्रीनाथ के तर्ज़ पर मुआवजा दिया जाए। कांग्रेस नेता और सांसद राहुल गांधी ने भी जोशीमठ भू-धंसाव को लेकर चिंता जाहिर की है।

दूसरी ओर जोशीमठ में जमीन धंसने को लेकर दायर जनहित याचिका सूचीबद्ध न होने पर वकील ने तत्काल सूचीबद्ध करने की मांग की तो सीजेआई डी वाई चंद्रचूड़ ने मेंशन लिस्ट में कल मंगलवार को सूचीबद्ध करने का निर्देश जारी किया है।

कांग्रेस प्रभावितों के साथ खड़ी: हरीश रावत

उत्तराखंड पूर्व सीएम हरीश रावत और पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल रविवार को जोशीमठ के प्रभावित क्षेत्र का दौरा किया। हरीश रावत ने कहा कि जोशीमठ के अस्तित्व पर खतरा मंडरा रहा है। लोगों का जीवन और आजीविका संकट में है। कांग्रेस प्रभावितों के साथ खड़ी है।

जोशीमठ को लेकर राहुल गांधी चिंतित

जोशीमठ को लेकर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने भी चिंता जाहिर की है। राहुल गांधी ने केंद्र और राज्य सरकार से प्रभावितों को हरसंभव मदद करने की मांग है। साथ ही क्षेत्रीय कांग्रेस कार्यकर्ताओं से प्रभावितों की मदद करने की अपील की है।

पीएम मोदी लगातार कर रहे हैं समीक्षा: उत्तराखंड मुख्यमंत्री

देहरादून में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि पीएम मोदी भी इसकी लगातार समीक्षा कर रहे हैं। और हमें हर प्रकार से सहायता देने का आश्वासन दिया है।

CM धामी की अपील, मिलकर काम करें

जोशीमठ भू-धंसाव पर उत्तराखंड CM पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि मैंने सभी से अनुरोध किया है कि ये समय मिलकर काम करने का है, लोग इस काम पर लगे हुए भी हैं। खतरे में आने वाले 68 मकान में रहने वालों को सुरक्षित जगह शिफ्ट किया गया है और 600 से अधिक मकानों का जो एक जोन बना है वहां से भी लोगों को शिफ्ट किया जा रहा है।