सोशल डिस्टेंसिंग के साथ नोएडा सांसद ने किया ये काम

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ नोएडा सांसद ने किया ये काम

HEALTH REGIONAL

Noida (Uttar Pradesh, India) आंगनबाड़ी केन्द्र छलेरा पर पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं सांसद डॉ. महेश शर्मा ने मंगलवार को गर्भवती व धात्री महिलाओं और बच्चों को पोषाहार प्रदान कर वितरण कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इसके साथ ही बिसऱख ब्लाक और शहर के 419 आंगनबाड़ी केन्द्रों के  लाभार्थियों को पोषाहार प्रदान किया गया । आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर पुष्टाहार प्रदान कर रही हैं और इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरा ध्यान रखा जा रहा है । इस अवसर पर डा. महेश शर्मा ने कहा कि जितना जरूरी पोषाहार वितरण है उतना ही जरूरी पोषाहार वितरण के समय सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखना भी है। उन्होंने केन्द्र की आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से कहा कि वह इस बात का ध्यान रखें। इस अवसर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी (डीपीओ) पूनम तिवारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी, मुख्य सेविका और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मौजूद रहीं।

सोशल डिस्टेंशिंग के साथ दिया पोषाहार

जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बताया लॉक डाउन के कारण सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों पर नियमित गतिविधियां बंद चल रही थीं। केन्द्र पर पोषाहार वितरण भी नहीं हो पा रहा था। शासन के निर्देश पर अब घर-घर जाकर पोषाहार बांटा जा रहा है। पोषाहार वितरण का काम सोमवार से शुरू हो गया है। छह व सात मई तक पांचों बाल विकास परियोजनाओं के 1108 आंगनबाड़ी केंद्रों के लाभार्थियों को घर-घर जाकर पोषाहार दिया जाएगा। बाल विकास परियोजना के तहत शहर में कुल 100 आंगनबाड़ी केंद्र हैं, जबकि बिसरख बाल विकास परियोजना के अंतर्गत कुल 319 आंगनबाड़ी केंद्र, दादरी में 228, दनकौर में 248, जेवर में 213 आंगबाड़ी केन्द्र हैं। उन्होंने बताया बाल विकास परियोजना अधिकारियों व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि किसी भी दशा में पोषाहार वितरण के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन न होने पाए।

घर-घर जाकर यह काम कर रहीं आंगनबाड़ी 

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के चलते गत चार मई से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर यह काम कर रही हैं। इसके पीछे सरकार का उद्देश्य बच्चों को पोषाहार खिलाते हुए तंदुरूस्त बनाए रखना है ताकि उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बनी रहे और वह किसी भी प्रकार के संक्रमण से लड़ने में सक्षम हों।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *