जन्माष्टमी पर मथुरा न आएं, प्रवेश रहेगा प्रतिबंधित

जन्माष्टमी पर मथुरा न आएं, प्रवेश रहेगा प्रतिबंधित

HEALTH INTERNATIONAL NATIONAL PRESS RELEASE REGIONAL RELIGION/ CULTURE

Mathura (Uttar Pradesh, India) मथुरा। जिलाधिकारी मथुरा सर्वज्ञराम मिश्र द्वारा विभिन्न प्रमुख मन्दिरों के पदाधिकारियों के साथ बैठक एवं सुझाव लेने के पश्चात यह निर्णय लिया गया है कि कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत 11 से 13 अगस्त तक मनाये जाने वाले कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर बाहर से आने वाली भीड़ प्रतिबन्धित रहेगी। मन्दिरों के अन्दर होने वाले पूजा कार्यक्रम परम्परागत आयोजित किये जायेंगे। इस पूजा कार्यक्रम के दौरान मन्दिर प्रबंधन द्वारा कोविड-19 की गाइड  लाइन प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग, फेस मास्क व सेनेटाइजर का प्रयोग कराया जाना आवश्यक होगा।

प्रवेश 10 अगस्त की दोपहर 12 बजे से 13 अगस्त की सांयकाल 3 बजे तक प्रतिबन्धित रहेगा
सुझाव में सचिव श्रीकृष्ण जन्मस्थान सेवा संस्थान ने 30 जुलाई एवं 4 अगस्त के अपने पत्र के द्वारा वैश्विक महामारी कोरोना से उत्पन्न परिस्थितियों के दृष्टिगत श्रद्धालुओं का प्रवेश 10 अगस्त की दोपहर 12 बजे से 13 अगस्त की सांयकाल 3 बजे तक प्रतिबन्धित रखने का उल्लेख किया है। प्रबन्धक प्रशासन मन्दिर ठा. श्री बांके बिहारी जी महाराज, वृन्दावन ने 31 जुलाई के अपने पत्र के द्वारा मन्दिर भवन के फर्श के जीर्णोद्वार एवं कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार रोकने का उल्लेख करते हुए मन्दिर के पट दर्शनार्थियों हेतु 30 सितम्बर तक बन्द रखने का उल्लेलख किया है।

प्रेम मन्दिर वृन्दावन 1 से 31 अगस्त तक सार्वजनिक दर्शन के लिए बन्द
सचिव जगदगुरू कृपालु परिषद श्यामा श्याम धाम ने अपने पत्र में  01 अगस्त में कोविड-19 महामारी की विभीषिका के दृष्टिगत प्रेम मन्दिर वृन्दावन को 1 से 31 अगस्त तक अथवा अगामी आदेश सार्वजनिक दर्शन के लिए बन्द रखने का उल्लेख किया है। श्री कृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव में न सिर्फ आस-पास के जनपदों बल्कि विभिन्न प्रान्तों से लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं। इस महोत्सव में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ एकत्रित होने पर सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन भी संभव नहीं हो सकेगा, जिससे महामारी के तीव्र गति से फैलने की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता है, जो लोक स्वास्थ्य के हित में नहीं होगा। महामारी अधिनियम-1987 की धारा-2 के अधीन उत्तर प्रदेश चिकित्सा अनुभाग-2 द्वारा जारी अनुसूचनाध्नियमावली 14 मार्च 2020 द्वारा जिला प्रशासन को रोग के फैलाव की रोकथाम हेतु अधिकृत किया गया है।

Dr. Bhanu Pratap Singh

1 thought on “जन्माष्टमी पर मथुरा न आएं, प्रवेश रहेगा प्रतिबंधित

  1. generic cialis online Such attentiveness may help render treatment decisions that accurately address the constellation of characteristics composing each individual case and result in safe, high quality, and cost effective patient care

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *