आखिर कब है मकर संक्रांति, यहां पढ़िए पं. प्रमोद गौतम का ज्योतिषीय विश्लेषण

आखिर कब है मकर संक्रांति, यहां पढ़िए पं. प्रमोद गौतम का ज्योतिषीय विश्लेषण

RELIGION/ CULTURE

वैदिक सूत्रम चेयरमैन एस्ट्रोलॉजर पंडित प्रमोद गौतम ने बताया कि वर्ष 2023 में 15 जनवरी को मकर संक्रांति का पर्व मान्य होगा।मकर संक्रांति पर्व से ही सूर्य की 6 माह की उत्तरायण अवधि आरम्भ हो जाएगी जो कि अत्यंत शुभ होती। इस अवधि में किसी भी व्यक्ति के शुभ तिथि एवम नक्षत्र में जन्म लेना एवं भौतिक शरीर का स्वतः ही परित्याग होना, पौराणिक ग्रन्थों के अनुसार अत्यंत सौभाग्यशाली माना गया है, क्योंकि शास्त्रों के अनुसार जीवन, मरण, लाभ, हानि, यश, अपयश सब कुछ विधि के विधान के अनुसार पूर्व निर्धारित होता है, इसको कोई भी आध्यात्मिक शख्सियत रखने वाला शख्स बदल नहीं सकता है।

 

एस्ट्रोलॉजर पंडित प्रमोद गौतम ने बताया कि भारत देश में कई ऐसे विलक्षण संत रहे हैं, जिन्होंने पूरी दुनिया में अपना आध्यात्मिक झण्डा लहराया, लेकिन जीवन के अंत के समय वह सूर्य की 6 माह की दक्षिणायन की अशुभ अवधि में इस भौतिक मायावी संसार से विदा हुए। भारत देश में अनगिनत उदाहरण इस सन्दर्भ में उन आध्यात्मिक शख्सियतों के दिये जा सकते जिन्होंने सूर्य की 6 माह की अशुभ दक्षिणायन अवधि में अपने भौतिक शरीर का परित्याग किया। वैदिक पौराणिक ग्रन्थों के अनुसार सूर्य की 6 माह की दक्षिणायन अवधि को नकारात्मकता का और उत्तरायण अवधि को सकारात्मकता का प्रतीक माना जाता है। सूर्य की 6 माह की उत्तरायण अवधि प्रत्येक वर्ष मकर संक्रांति पर्व से आरम्भ होती है जो कि लगभग 14-15 जुलाई तक प्रत्येक वर्ष 6 माह तक रहती है। इसके बाद प्रत्येक वर्ष 16 जुलाई से लेकर 13 जनवरी तक सूर्य की 6 माह की दक्षिणायन की अशुभ अवधि रहती है।

नववर्ष 2023 में छाया ग्रह केतु एवं गुरु-चाण्डाल योग के कारण सम्पूर्ण विश्व में देवासुर संग्राम की स्थिति

वैदिक सूत्रम चेयरमैन पंडित प्रमोद गौतम ने बताया कि हिन्दू पंचांग के अनुसार, वर्ष 2023 में मकर संक्रांति का पर्व उदयातिथि के अनुसार रविवार 15 जनवरी को मनाया जाएगा। सूर्य ग्रह शनिवार 14 जनवरी को रात्रि 08:21 पर धनु राशि से निकलकर मकर राशि में प्रवेश करेंगे जिसके बाद मकर संक्रांति का पुण्य काल मुहूर्त 15 जनवरी को सुबह 07:15 से 12:30 तक रहेगा। महापुण्य काल मुहूर्त सुबह 07:15 से 09:15 तक अर्थात 2 घण्टे तक रहेगा। सूर्य ग्रह के 15 जनवरी 2023 को सूर्योदय काल की अवधि में मकर राशि में पहुँचते ही सूर्य की 6 माह की अत्यंत शुभ एवम मुक्तिदायक उत्तरायण अवधि आरम्भ हो जाएगी।

Dr. Bhanu Pratap Singh