सुनार के यहां सोना गिरवी रखने जा रही थी महिला, Bank of Baroda ने दिखाया सही रास्ता

सुनार के यहां सोना गिरवी रखने जा रही थी महिला, Bank of Baroda ने दिखाया सही रास्ता

BUSINESS

बैंक ऑफ बड़ौदा की विकास भवन आगरा शाखा में नुक्कड़ नाटक

मोबाइल ऐप Bob world के माध्यम से प्राप्त करें हर जानकारी

Live Story Time

Agra, Uttar Pradesh, India. एक ग्रामीण महिला बेटी की शादी के लिए सोना सुनार के यहां गिरवीं रखने जा रही थी। उससे बैंक ऑफ बड़ौदा का अधिकारी टकरा गया। उसने महिला को सही रस्ता दिखाया। बताया कि सोना गिरवी रखना है तो बैंक ऑफ बड़ौदा में रखें। अच्छा ब्याज मिलेगा और सोना भी सुरक्षित रहेगा। इसके बाद महिला ने अपना सोना बैंक ऑफ बड़ौदा में गिरवी रखा।

 

नुक्कड़ नाटक के माध्य से दी गई जानकारी

यह दृश्य है बैंक ऑफ बड़ौदा विकास भवन, संजय प्लेस शाखा के बाहर हुए नुक्कड़ नाटक का। बैंक ऑफ बड़ौदा क्या-क्या करता है, इस बारे में विकास भवन के पार्किंग में नुक्कड़ नाटक के माध्यम से जानकारी दी गई। वहां उपस्थित लोगों ने बैंक ऑफ बड़ौदा की सेवाओं की सराहना की। तालियां बजाईं।  बैंक ऑफ बड़ौदा (bank of baroda) 115 साल पुरानी है।

bank of baroda
बैंक ऑफ बड़ौदा ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से जानकारी दी।

हर किसी के लिए लाभकारी योजनाएं

विकास भवन, संजय प्लेस, आगरा में bank of baroda की शाखा है। यहीं पर शाम के समय अचानक नुक्कड़ नाटक शुरू कर दिया गया। सबसे पहले बैंक के मोबाइल ऐप (bank of baroda mobile app) बॉब वर्ल्ड (Bob world) के बारे में जानकारी दी गई। यह ऐसा ऐप है, जिसके माध्यम से बैंक के बारे में हर प्रकार की जानकारी की जा सकती है। मोबाइल ऐप से ही लोन भी लिया जा सकता है। बुजुर्गों, ग्रमीणों, युवाओं, महिलाओं, सरकारी और गैर सरकारी कर्मचारियों, व्यापारियों, गृह निर्माण आदि के लिए भी bank of baroda द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। सलाह दी गई कि सोना गिरवी रखकर bank of baroda से लोन प्राप्त किया जा सकता है। स्वर्णकार के यहां सोना गिरवी रखने में कई खतरे हैं। स्वर्णकार का मूलधन कभी कम नहीं होता है।

bank of baroda vikas bhawan agra
नुक्कड़ नाटक के बाद बैंक अधिकारियों के साथ ग्रुप फोटो तो बनता है।

1908 में हुई स्थापना

आगरा में विकास भवन शाखा के प्रबंधक श्री कमल हसन ने बताया कि बैंक ऑफ बड़ौदा की स्थापना 20 जुलाई 1908 को बड़ौदा के महाराजा, महाराजा सयाजीराव गायकवाड़ III द्वारा बड़ौदा (गुजरात) में की गई। भारत सरकार ने भारत के अन्य 13 प्रमुख वाणिज्यिक बैंकों के साथ इसका 19 जुलाई 1969 को राष्ट्रीयकरण कर दिया। लाभ कमाने वाले सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम (पीएसयू) के रूप में निर्धारित किया गया। बैंक ऑफ बड़ौदा में सेविंग्स अकाउंट में 1 लाख रुपये तक की जमा राशि पर सालाना 3.25% की दर से ब्याज मिलेगी। इसके अलावा 1 लाख से ज्यादा जमा पर 3% की दर से ब्याज मिलेगी। इस अवसर पर विपणन अधिकारी प्रशांत मेनी और क्षेत्रीय प्रबंधक विवेक शुक्ला की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

गीतांजलि नुक्कड़ नाटरक अलीगढ़ के कलाकार हिमांशी गौतम, रतन गौतम, लक्ष्य, रॉकी आदि उपस्थित रहे।

bank of baroda officers
नुक्कड़ नाटक को मोबाइल में कैद करते bank of baroda officers कमल हसन एवं अन्य।

आगरा में बैंक की शाखाएं

आगरा शाखा, आगरा कैंट, आगरा विश्वविद्यालय शाखा, अलीगढ़ रोड, आरतौनी, बेलनगंज, दयालबाग, दिल्ली गेट, फतेहाबाद रोड, ग्वालियर रोड, जीवनी मंडी, कैलाशपुरी, कमला नगर, खंदारी आगरा, लॉयर्स ब्रांच, संजय प्लेस, शाहगंज, शमसाबाद रोड, शास्त्रीपुरम, सिकंदरा, ट्रांस यमुना कॉलोनी आगरा।

Dr. Bhanu Pratap Singh