Taj Press Club Election 270 में से 251 पत्रकारों ने डाले वोट, दो पदों पर सीधा मुकाबला, उपाध्यक्ष पद पर इनकी जीत के आसार

Taj Press Club Election 270 में से 251 पत्रकारों ने डाले वोट, दो पदों पर सीधा मुकाबला, उपाध्यक्ष पद पर इनकी जीत के आसार

Election

Agra, Uttar Pradesh, India. बहुप्रतीक्षित ताज प्रेस क्लब के लिए मतदान आज शाम 4 बजे पूर्ण हो गया। कुल 270 मतदाताओं में से 251 ने वोट डाले। इस दौरान भारी पुलिस व्यवस्था का इंतजाम किया गया। मतदाताओं को अपने पाले में खींचने की होड़ मची रही। घात प्रतिघात का दौर चला । ऐसा लगा कि ताज प्रेस क्लब पर पत्रकारों के नहीं बल्कि किसी विधानसभा का चुनाव हो रहा है। सुबह से ही मतदान के लिए लाइन लग गई जो शाम 4:45 बजे तक जारी रही।

मुझे सुबह 8:30 बजे वरिष्ठ पत्रकार श्री मोहनलाल जैन ने फोन किया कि ताज प्रेस क्लब पर प्रत्याशियों ने बस्ते लगा दिए हैं। मुझे यह जानकर बड़ा अचरज हुआ क्योंकि बस्ते लगाने का काम तो विधानसभा और लोकसभा चुनाव के दौरान होता है। बस्ते लगाने का दृश्य देखने की लालसा तीव्र हो गई। मैंने सुबह सभी मतदाताओं का एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया। उसमें अपने लिए चुनाव डालने की अपील की और उसके बाद मैं ठीक प्रातः 10:00 बजे ताज प्रेस क्लब पर आ गया। यहां पुलिस का भारी जमावड़ा था। महिला पुलिस लगी हुई थी।

प्रेस क्लब के ठीक सामने अधर शर्मा, शरद शर्मा, पियूष शर्मा, सुनयन शर्मा के हार्डिंग लगे हुए थे । सबसे बड़ा आकर्षक होर्डिंग अध्यक्ष पद के प्रत्याशी देश दीपक तिवारी का लगा हुआ था। उन्होंने बाकायदा विधानसभा चुनाव की तरह कुर्सी और मेज लगा रखी थी।लोग बैठे हुए थे। जहां पर हम लोग वाहन खड़ा करते हैं वहां पर उनके नाम की तख्ती लेकर लोग बैठे थे। महासचिव पद के प्रत्याशी विवेक कुमार जैन और अध्यक्ष पद के प्रत्याशी अशोक अग्निहोत्री ताऊ के नाम की तख्ती लेकर भी लोग बैठे हुए थे। उन्होंने बड़े-बड़े होर्डिंग और स्टिकर दीवारों पर चिपका रखे थे। अगर कोई व्यक्ति ताज प्रेस क्लब में घुस रहा है और बाहर जा रहा है तो विवेक कुमार जैन और अशोक अग्निहोत्री के स्टिकर स्पष्ट तौर पर दिखाई दे रहे थे। इसका मतलब है कि ताज प्रेस क्लब के अंदर भी स्टिकर के माध्यम से चुनाव प्रचार किया जा रहा था। सभी प्रत्याशी आज प्रेस क्लब के द्वार के अंदर खड़े हुए थे। जैसे ही कोई मतदाता आता,उसको हाथ जोड़कर जोड़कर नमस्कार करते और फिर अपना नाम और पद का नाम बताते मतदाता भी खूब चालाक रहे। उन्होंने किसी भी प्रत्याशी को वोट देने से इनकार नहीं किया। सबको ‘हां हां भाई साहब आप को ही वोट दे रहे हैं’, इस तरह की बात कहकर आश्वस्त किया।

मतदान को निष्पक्ष बनाए रखने के लिए जिलाधिकारी ने अपना प्रतिनिधि भेजा। जिला सूचना अधिकारी भी पूरे समय मौके पर तैनात रहे। प्रत्येक मतदाता का परिचय पत्र चेक किया गया । प्रत्येक मतदाता को 6 मतपत्र दिए गए। एक अध्यक्ष, एक महासचिव, तीन उपाध्यक्ष, 3 सचिव और 11 कार्यकारिणी सदस्यों का चुनाव किया गया।

इस पूरे मतदान के दौरान लोग एक दूसरे से पूछते रहे कि कौन जीत रहा है। सर्वाधिक चर्चा अध्यक्ष पद पर हुई। अध्यक्ष पद पर श्री सुनयन शर्मा और श्री देश दीपक तिवारी के बीच सीधा मुकाबला नजर आया। अशोक अग्निहोत्री कोण बनाते नजर आए। कई मतदाताओं ने बताया कि उन्होंने सुनयन शर्मा को वोट किया है। अब यह तो मतपेटी खुले तब असलियत नजर आएगी।

अब आते हैं महासचिव पद पर। पहले दिन से ही महासचिव को लेकर भारी गहमागहमी रही। इस पद पर केपी सिंह और विवेक कुमार जैन में सीधा मुकाबला नजर आ रहा है। प्रभजोत कौर मुकाबले में दिखाई दे रही हैं।श्री अधर कुमार शर्मा और डॉक्टर महेश धाकड़ भी अपनी जीत का दावा कर रहे हैं। जानकारों ने बताया कि श्री के पी सिंह के पास एक साथ 60 वोट हैं। इसके अलावा जो भीमिला है वह उनके लिए लाभकारी रहा है। एक मुस्त वोट अन्य किसी प्रत्याशी के पास नजर नहीं आया।
देखें तो पता चलता है कि मतदाताओं का रुख अध्यक्ष पद के प्रत्याशी सुनयन शर्मा महासचिव पद के प्रत्याशी के पी सिंह को ओर दिख रहा है।
कोषाध्यक्ष पद पर हिंदुस्तान अखबार में मनोज मित्तल को मैदान में उतारा था उन्हें करारी टक्कर दी है पियूष शर्मा ने। कोई ताज्जुब नहीं होगा अगर श्री पीयूष शर्मा बाजी मार ले जाएं।

उपाध्यक्ष पद पर मनोज मिश्रा, डॉ भानु प्रताप सिंह, अनुपम चतुर्वेदी, आदर्श आनंद गुप्त के बीच मुकाबला है।
सचिव पद की बात करें तो यतीश लवानिया, पवन तिवारी, मुनींद्र शंकर त्रिवेदी, एमडी खान के बीच मुकाबला नजर आ रहा है।

 

Dr. Bhanu Pratap Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *