कोरोना शव से कोरोना वायरस के फैलने की संभावना बहुत कम रहती है

कोरोना शव से कोरोना वायरस के फैलने की संभावना बहुत कम रहती है

BUSINESS HEALTH NATIONAL POLITICS REGIONAL RELIGION/ CULTURE

Mathura (Uttar Pradesh, India)। मथुरा। ध्रुव घाट श्मशान पर कोरोना मरीजों के शवों के अंतिम संस्कार को लेकर उठे विवाद पर मथुरा के करोना नोडल अधिकारी ने कहा है कि कोरोना शव से कोरोना वायरस के फैलने की संभावना बहुत कम रहती है। कोरोना प्रभारी नोडल अधिकारी डा. भूदेव सिंह ने कहाकि कोरोना वायरस के किसी के शव द्वारा फैलने का खतरा बेहद कम है। डेड बॉडी को कोविड-19 के दिशानिर्देशां के हिसाब से पूरी तरह सेनेटाइज कर के दिया जाता है। दूसरा ड्रापलेट्स के माध्यम से यह वायरस फैलता है।

परिजनों को अंतिम संस्कार में शामिल होना चाहिए

इस लिए वायरस के फैलने की भी संभावना बेहद कम रह जाती है। उन्होंने कहाकि परिजनों को कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के अंतिम संस्कार में शामिल होना चाहिए। यह भावनात्मक मुद्दा है परिजनों को अंतिम संस्कार में शामिल होना चाहिए। फिर भी किसी भी तरह की कोई आशंका इन लोगों को रहती है तो हम पीपीई किट उपलब्ध करा देते हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जो नियम बने हैं, शासन से जो निर्देश दिये गये हैं उनके हिसाब से स्वास्थ्य विभाग अपनी ओर से एम्बूलेंस के माध्यम से अंतिम संस्कार स्थल तक पहुंचाने की व्यवस्था करता हैं। उन्होंने कहाकि इसके बाद भी हम अपील यही करेंगे कि इतना सब कुछ होने के बाद भी डेडबॉडी को पूरी सावधानी बरतते हुए छूना चाहिए। डेडबॉडी को छूते समय संक्रमण की संभावना बेहद कम होती है।

Dr. Bhanu Pratap Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *