जिस गांव में मिले सात कोरोना पॉजीटिव, उसी सील गांव में गूंजी नन्हीं बच्ची की किलकारी

जिस गांव में मिले सात कोरोना पॉजीटिव, उसी सील गांव में गूंजी नन्हीं बच्ची की किलकारी

REGIONAL

फिरोजाबाद। जिस गांव को कोरोना संक्रमित मिलने के बाद सील किया गया था। उसी गांव में एक बच्ची की किलकारी गूंजी। बच्ची का पिता पहले से ही क्वारंटाइन है। कोरोना की दहशत के बीच बच्ची के जन्म ने सभी के चेहरे पर खुशी पहुंचाने का काम किया। बच्ची के जन्म के कुछ समय बाद ही महिला और बच्ची को स्वस्थ घर पहुंचा दिया गया।

सील किए गए गांव की है महिला
तहसील क्षेत्र के गांव प्रतापपुर में एक युवक आगरा में कोरोना संक्रमित मिला था। उसके बाद उसकी पत्नी और तीन अन्य लोग कोरोना संक्रमित मिले। दो दिन बाद दो अन्य लोग भी गांव में कोरोना संक्रमित पाए गए। सुरक्षा को लेकर प्रशासन ने गांव को सील करा दिया। लोगों के आवागमन को बंद कर दिया गया। गांव की ही रंजना पत्नी बलराम को रविवार सुबह प्रसव पीड़ा हुई।

परिवारीजन उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले गए। जहां उसने एक स्वस्थ कन्या को जन्म दिया। कोरोना की दहशत के बीच बालिका की किलकारी गूंजने पर परिजनों ने खुशी जाहिर की। बच्ची का पिता खंड विकास कार्यालय टूंडला में कार्यरत है जो गांव में कोरोना संक्रमित मिलने के बाद से ही क्वारंटाइन है। इस मामले में अधीक्षक डॉ. संजीव वर्मा का कहना है कि महिला को प्रसव पीड़ा होने पर अलग वार्ड में रखा गया था जहां उसकी पूरी देखरेख करने के बाद घर भिजवा दिया था। बच्ची और मां दोनों पूर्ण स्वस्थ हैं।

Dr. Bhanu Pratap Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *