कोरोना योद्धाओं का है ये परिवार, देश सेवा में है लीन

कोरोना योद्धाओं का है ये परिवार, देश सेवा में है लीन

HEALTH NATIONAL REGIONAL

Hathras (Uttar Pradesh, India) जिले के सादाबाद क्षेत्र के बिसावर में स्थित एसबीजे कॉलेज के प्रधानाचार्य के परिवार के चार लोग कोरोना योद्धा हैं। उनकी दोनों बेटियां व दामाद स्वास्थ्य विभाग से जुड़े हुए हैं और अलग-अलग अस्पतालों में कोरोना को हराने की जंग में भूमिका अदा कर रहे हैं।

डॉ. अंजली हुईं थी कोरोना से प्रभावित
एसबीजे कॉलेज के प्रधानाचार्य देशराज सिंह बताते हैं कि उनकी बेटी डॉ.अंजलि कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज, करनाल में E.N.T Surgeon के रूप में तैनात है, कोरोना मरीजों का उपचार करने से दिनांक 5 अप्रैल को डॉ अंजलि भी कोरोना से प्रभावित पाई गई जिसकी वजह से उन्हें अस्पताल में ही क्वारंटीन कर दिया गया साथ ही, उनके पति डॉ उत्कर्ष कुमार के साथ तीन वर्षीय बेटी को भी क्वारंटीन कर दिया गया। लेकिन पति और बेटी की रिपोर्ट नेगेटिव आई और उन दोनों को घर भेज दिया गया। एक हफ्ते बाद जब पुनः जांच हुई तो डॉ अंजलि नेगेटिव पायी गयीं। लेकिन इस एक हफ्ते के दौरान मनोबल एवं धैर्य बहुत उच्च स्तरीय था जबकि उनकी तीन वर्ष की बेटी घर पर बिना माँ के थी। उनका मानना है कि स्थिति कैसी भी आ जाए अपना मनोबल नही गिरने देना चाहिए तथा धैर्य व साहस के साथ काम लेना चाहिए। अब जब वो वापस आचुकी हैं उनके मन में सिर्फ एक बात आरही है कि उन्हें जल्द से जल्द ड्यूटी पर बुलाया जाए जिससे वो देश सेवा में अपना सहयोग प्रदान कर सकें।

जनरल मेडीसिन में जूनियर डॉक्टर हैं हरेंद्र
छोटी पुत्री डॉ.शिल्पी सिंह स्त्री व प्रसूति रोग विशेषज्ञ हैं और वह दिल्ली में हैं और उनके पति डॉ. हरेंद्र चौधरी आगरा के S.N. Medical College में जनरल मेडीसिन में जूनियर डॉक्टर हैं। कोरोना मरीजों को सबसे पहले जनरल मेडीसिन में ही भेजा जाता है, वे ऐसे मरीजों का उपचार धैर्य और साहस के साथ गंभीरता पूर्वक इलाज करते हुए देश सेवा में लीन हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *